आज के मुहूर्त  और राशिफल- 06 अप्रेल,2011 (बुधवार)-----

शुभ विक्रम संवत- 2068, शालिवाहन शक संवत- 1933,
संवत्सर का नाम- क्रोधी, अयन- उत्तरायन, ऋतु- वसंत,
मास- चैत्र, पक्ष- शुक्ल, तिथि- तृतीया मंगलरात्रि 2.31 पश्चात चतुर्थी,
हिजरी सन्- 1432, मु. मास- जमादिउलअव्वल, तारीख- 1,
नक्षत्र- भरणी रात्रि 10.30 पश्चात कृतिका, योग- विष्कुंभ प्रात: 11.45 पश्चात प्रीति,
सूर्योदयकालीन करण- तैतिल,
चन्द्रमा- मेष राशि से वृषभ राशि में मंगलरात्रि 5.06 पर प्रवेश करेंगे।
दिन- शुभ। दिशाशूल- उत्तर में। मुहूर्त- सौभाग्य सामग्री क्रय का मुहूर्त।
दिन का पर्व- गौरी तृतीया, गौरी शंकर का दोलोत्सव, सौभाग्य शयन व्रत।
कार्य की अनुकूलता के लिए- किसी कन्या को फल खिलाएँ।
उपयोगी ज्ञान- नवरात्रि में बोए जाने वाले जवारे शुद्ध व नए मिट्‍टी के पात्र में ही बोना शुभ रहता है।
शुभ समय- प्रात: 07.19 से 9.10 दिन 03.04 से 5.01।
सुझाव- आवश्यक न हो तो दिन 12.29 से 02.02 के मध्य शुभ

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

दैनिक राशिफल----

राशि फलादेश मेष---
आर्थिक स्थिति उत्तम रहेगी। साझेदारी की समस्या का निराकरण होगा। नए कार्य में सफलता मिलेगी। बोलचाल में ध्यान रखें। किसी से विवाद संभव।

राशि फलादेश वृष---
परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। नवीन कार्य रचनाएँ साकार होंगी। नौकरीपेशा व्यक्ति का स्थानांतरण होगा। उत्तेजना पर नियंत्रण रखें।

 राशि फलादेश मिथुन---
विलासिता के प्रति रुझान बढ़ेगा। धन-संपत्ति में बढ़ोतरी होगी। आत्मप्रसन्नता का अनुभव होगा। अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। विद्यार्थियों को पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए।

 राशि फलादेश कर्क-----
सामाजिक आयोजनों में रुचि लेंगे। भागीदारी में नए अनुबंध लाभकारी होंगे। मौके का फायदा उठाना आपके हाथ में है। संतान से सुख मिलेगा।

राशि फलादेश सिंह-----
बिना सोचे कोई कार्य न करें। व्यापार में उन्नति के योग। लाभ की आशा प्रबल होगी। पारिवारिक समस्याओं का निकाल होगा।

राशि फलादेश कन्या-----
प्रसन्नता का वातावरण बनेगा। प्रवास में सतर्कता आवश्यक। कामकाज में आशानुकूल अवसर प्राप्त होंगे। स्वास्थ्य की ओर ध्यान दें। विरोधी अपने मंतव्य में कामयाब नहीं हो पाएँगे।

राशि फलादेश तुला-----
बड़े लोगों से मुलाकात होगी। निवेश का लाभ मिलेगा। व्यापार-व्यवसाय में बढ़ोतरी होगी। कर्ज से दूर रहें। परिवार के सदस्यों की तरक्की होगी।

राशि फलादेश वृश्चिक-----
व्यापार में वृद्धि होकर आर्थिक क्षेत्र में सुधार की संभावना है। आपके कार्यों की प्रशंसा होगी। गैरजरूरी वाद-विवाद से बचकर रहें।

 राशि फलादेश धनु----
व्यापार-व्यवसाय के क्षेत्र में सफलता मिलेगी। बोलचाल में संयम रखें। पुरानी उधारी, लेनदारी में सफलता मिलेगी। वाहन तेज गति से न चलाएँ।

राशि फलादेश मकर---
रुपयों के लेनदेन में सावधानी रखें। संतान के कार्यों से समाज में आलोचना होगी। व्यर्थ विवाद की स्थिति को टालें। नए कार्यों में सफलता मिलेगी।

राशि फलादेश कुंभ---
व्यापार-व्यवसाय में उन्नति के योग। कामकाज में मन लगेगा। प्रभावी वातावरण रहेगा। दूसरों की मदद मिलेगी। लाभ की आशा प्रबल होगी।

राशि फलादेश मीन----
आशानुकूल लाभ होने की संभावना बनती है। ज्यादा साहस नहीं करें। वैवाहिक प्रस्ताव आएँगे। पूँजी निवेश एवं बचत में वृद्धि होगी।
Share To:

पंडित "विशाल" दयानन्द शास्त्री

Post A Comment:

0 comments so far,add yours