इन बातों का रखें ध्यान/ख्याल बोलते समय /बातचीत के दोरान (इन सोलह बातों का खास ध्यान रखना चाहिए)-

1. बहुत ज्यादा नहीं बोलना चाहिए।

2. बिल्कुल चुप भी नहीं रहना चाहिए।

3. समय-समय पर बोलना चाहिए।

4. दो लोग यदि बात कर रहे हैं तो उनके बीच में बिना पूछे नहीं बोलना चाहिए।

5. बिना सोचे-विचारे कोई बात नहीं करना चाहिए।

6. बोलने में शीघ्रता नहीं करनी चाहिए।

7. ऊट-पटांग बात नहीं करना चाहिए।

8. उलाहना भरी और मतभेदी बात नहीं करना चाहिए।

9. हमेशा धर्म युक्त और यथार्थ बात करनी चाहिए।

10. दूसरे लोगों को जो बातें बुरी लगती हैं वे बात कभी नहीं बोलना चाहिए।

11. किसी को भी ताना नहीं मारना चाहिए, ना ही व्यंग्य करना चाहिए।

12. अनावश्यक हंसी और दिल्लगी नहीं करना चाहिए।

13. दूसरों की बुराई नहीं करना चाहिए।

14. सच, कोमल, मधुर वाणी रखना चाहिए।

15. अपने मुख से ही स्वयं की प्रशंसा नहीं करना चाहिए।

16. बात करते समय किसी भी प्रकार की जिद नहीं करना चाहिए।
Share To:

पंडित "विशाल" दयानन्द शास्त्री

Post A Comment:

0 comments so far,add yours