===जोगी == नाथ == ओझा,बाबा आदि  से मुक्ति पाने के उपाय ==
= स्वामी आनंद "शिव" मेहता--09926077010== 
यह जानकारी पण्डे-पुजारी,जाणिये---जानकर,ज्योतिष हेतु उपयोगी...

== ग्रामीण इलाको में अनेक जानकर लोग (जोगी,नाथ या ओझा और बाबा आदि) होते हे , जो लोगो को ठीक किया करते हे और उनका इलाज भी किया करते हे , किन्तु देखने में यह आया हे की यह लोग ही बीमार करते हे और यही फिर ठीक करते हे....

== इनकी विद्या का उपयोग यह == जीविका उपार्जन में करते हे \\ और लोगो का उपचार भी करते हे \\ अनेको हे जो गायों के दूध को बांधते हे \\ बच्चो को नजर लगते हे \\ व्यापर को नुकसान देते हे \\ जो इनकी बात न मने और इनको दक्षिणा नहीं दे उसको यह आये दिन तंग किया करते हे \\ 

== इनका उद्देशय यही होता हे की इनकी आप पूछ परख करें == बस मन सम्मान == और कुछ धन , 
इस तरह के लोग हनुमान , भेरू , काली के आराधक और श्मशान क्रिया को जानते हे और यह सात्विक और तामसिक पूजा करते हे,अधिकतर हनुमान वाले सात्विक ही होते हे...

= यह अपनी मर्जी से कुछ नहीं भी करें तब भी इनकी वह नुकसान करी शक्ति आपका नुकसान करती ही हे , और इनका भरण पोषण वह शक्ति करती हे इसी तरह से == यह मुर्दों के मजारों के भी आराधक होते हे...

== किन्तु हनुमान का आराधक बहुत संयमित होता हे भैरव का क्रोधी और कामी -- यह मंदिरों की सेवा नित्य करते हे इस कारण इनकी शक्ति कार्य करती हे \\ यही लोगो का नुकसान अपनी शक्ति से करते हे फिर वह परेशान व्यक्ति इनके पास जाता हे और तुरंत ठीक हो जाता हे और यह चमत्कारी बनते हे और इनका नाम चलता हे किन्तु यही वास्तव में लोगो को नुकसान पहुंचते हे \\ 

इनसे बचना चाहिए---यह जब आपके ऊपर कृपा करते हे तो आपको सदेव के लिया ठगते रहने का प्रबंध करते हे फिर कुछ दिनों तक आप इनसे नहीं मिलो या इनकी सेवा न करों तो यह कुछ न कुछ आप पर किरिया करते हे और आपको इनके पास जाना ही होता हे = दूसरा कोई हिक भी करे तो यह फिर उस पर दोबारा करते हे इस तरह वह इनका भक्त - इनका शिस्या इनके नाम का गुणगान करते रहते हे और यह अपना कार्य करते रहते हे \\ हो सकता हे की यह बात किसी को बहुत हबुरी लगे और उसके चेले हमारी निंदा भी करें और बुराई भी करे जो की हो रहा हे \\ किन्तु यही सत्य हे \\

=== आप अपने ज्ञान को अन्य पोस्ट पर ही स्वतंत्र रूप से प्रदर्शित करें == कॉमेंट नहीं और नहीं कोई बात ==
=== यह मन्त्र हे जिससे इनके किये से सदेव रक्षा आपकी होती रहे और == आप शुखी रहे यही कामना हे == वैसे बहुत ही सेवा भावी लोग इस क्षेत्र में आ रहे हे जिनकी सेवा भावना उत्तम हे , उन पर कोई बात नहीं न ही कोई यह अपने ऊपर जाने की यह मेरे लिए ही लिखा हे == यह सामान्य बात हे == और फायदा हो लोगो का आप भी तो यही चाहते हे === ज्ञान और शक्ति में अंतर होता हे == इस कारण बहस नहीं...

=====यह नाथों की विद्या का ही मंतर हे ====

== ॐ नमो आदेश गुरु का == उलट नाहर सिंह पलट नाहर सिंह , नाहर सिंह की माँ मेर पडोसी खाय - शिव का बेरी मेरा दुश्मन , शैली बांध , सिंगी बांध , नो नाथों की विद्या बांध आसान बैठा जोगी बांध , पीर को बांध , पण्डे को बांध , आढ़ती को बांध शास्त्री को बांध , गुनिया की ओझा की विद्या को बांध गुरु को बांध चेला को बांध हाँ को बांध जान को बांध गुरु को बांध सिद्ध को बांध और गाव के जोगियान को बांध = इतने पर भी न बंधे तो माँ गोरी की आन , लोन चमारी की आन गुरु गोरख नाथ की आन = शब्द संच पिंड कांचा चले मंतर गुरु का बांचा फिर भी न चले तो खुद की माँ पे चढ़े....

== आपको किसी अमावश्या या ग्रहण या रवि पुस्य योग में गुगलु और लोभन जलाकर अग्नि पर धुनि देते हुवे इसको 11000 बार एक ही समय में जप लेना हे और फिर नित्य ही एक माला जपना हे इस तरह आपके परिवार पर किसी का किया आप पर किसी का किया आपके व्यापर की नजर आपके बल गोपाल सभी रक्षा होती रहेगी और आप जो भी दुखिया आपको दिखे तो आप उसको इस मंतर से झाड़ा भी दे सकते हे \\ यह एक ही आपके अनेको काम बनाते हे...

कोई किसी को गुरु की आवश्यकता नहीं और न ही किसी विशेष आडम्बर की और पूजा पाठ की बन सके तो आप किसी ब्राह्मण को भोजन करवाया करे किसी अमावस्या या मंदिर में सामग्री एक २ व्यक्ति ले के देते रहे इस उपाय से सदेव ही आप रक्षित रहेंगे और आप इसको रक्षा मन्त्र की भाँती ही प्रयोग भी कर सकते हे == सदेव आपकी इनसे रक्षा होती रहे == 
भैरव या हनुमान के मंदिर जापे तो उत्तम या किसी तीर्थ स्थल पर...
....बाबा भोला भली करें....
== सभी निरोग और स्वस्थ्य हो... कल्याण को प्राप्त हो ===
==================================================================
===वशीकरण करने की रात ===होली की रात --== स्वामी आनंद "शिव" मेहता--09926077010== 
साधना की रात === स्वामी आनंद "शिव" मेहता--09926077010==
= वशीकरण अपने पति का == पत्नी का == स्वामी आनंद "शिव" मेहता--09926077010==

==== और कोई तुम्हे पसंद ही न करे तो == आकर्षण बढ़ाने का == आप प्रयोग करे इस दिन की साधना शीघ्र असर देने वाली होती हे \\ वशीकरण साधना करने वाले ब्रह्म्म्चार्य से रहे ३ दिन कम से कम \\
==कुछ साधक इस दिन वीर साधन भी करते हे \\
== कुछ महिलाये डायन साधना भी करती हे \\
== कुछ कामी जन काम साधनाए -- करते हे \\ श्यामा साधना भी \\ श्मशान साधना भी \\
== कर्णपिशाचनी == स्वप्नेस्वरी == पंचांगुली साधना == गुप्तज्ञात - साधना = सर्वज्ञं साधना == सर्वप्राप्ति साधना और अ प्राप्त को प्राप्त करने की साधना == आप जो चाहे करें \\

== साधना घर में - किसी नए मंदिर में = 
---किसी हल में किसी कमरे में जिन्हे आजकल साधना हल या साधना कक्ष नाम दियाजाता हे वहां नहीं होती हे -- कर भी लो तो सफलता नहीं मिलती हे \\

== साधना किसी विख्यात नदी के किनारे == 
किसी पहाड़ पर == किसी प्रसिद्ध और विख्यात प्राचीन देवालय के समीप == या श्मशान में यदि संभव हो तो == 
वैसे हमारा तो मन माफिक और यह सभी जहाँ हो प्रसिद्ध और विख्यात स्थान हे ओंकारेश्वर जहाँ एक ही स्थान पर सभी स्थान हे...
Share To:

पंडित "विशाल" दयानन्द शास्त्री

Post A Comment:

0 comments so far,add yours