यदि बचाना हैं कंगाली,कर्ज या अन्य परेशानी से तो घर से बाहर 
करें इन कबाड़ की चीजों को ----

पण्डित "विशाल" दयानन्द शास्त्री--09669290067....।।।

आप सभी से निवेदन हैं की घर की साज-सज्जा करते हुए हमेशा ध्यान रखें कि घर को ज्यादा सामान से भरे नहीं। ज्यादातर लोग घर को सुंदर दिखाने के लिए जो भी वस्तु आकर्षक लगती है, उसे अपने घर में सजा लेते हैं।




पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार वास्तुशास्त्र के नियमों अनुसार घर में कुछ चीजें ऐसी होती हैं जिन्हें घर में सजाने से पारिवारिक सदस्यों के तन, मन और धन को नुक्सान पंहुचता है। कुछ चीजों से अत्यधिक नकारात्मक उर्जा का संचार होता है जिससे घर-परिवार में कंगाली आ जाती है।

अनुपयोगी वस्तुएं कबाड़ होता है और कबाड़ से घर में नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है इसलिए घर में कबाड़ होना शुभ नहीं होता। पण्डित दयानन्द शास्त्री इस बात की भी सलाह देते हैं कि, घर में घड़ी, टीवी, वाशिंग मशीन, माइक्रोवेब ओवन, मिक्सर, फ्रीज इत्यादि कोई भी वस्तु जो खराब होने के कारण उपयोग में नहीं आ रही है तो उन्हें सुधराकर रखना चाहिए और यदि उनका सुधरना सम्भव नहीं है तो उन्हें घर से हटा देना चाहिए।
पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार घर में कांच का टूटना जितना अशुभ माना गया है अससे अधिक अशुभ है उस टूटे हुए कांच के टूकड़ों को घर में रखना। घर में टूटा आईना अथवा खिड़की टूटते ही बनवा लें अन्यता ये टूटे पड़े-पड़े घर में कर्ज अथवा धन हानि करते हैं।
घड़ी की सूईयों एवं पेंडुलम से सकारात्मक उर्जा का संचार होता है जब वो चल रही होती हैं लेकिन जब वो बंद हो जाती हैं तो उनसे नकारात्मक उर्जा का संचार होता है।
अंडाकार, गोल, अष्टभुजाकार और षट्भुजाकार घड़ी बहुत ही शुभ होती है।

पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार देवी-देवताओं की फटी हुई और पुरानी तस्वीरें अथवा खण्डित हुई मूर्तियों से भी आर्थिक हानि होती है। अत उन्हें किसी पवित्र नदी में प्रवाहहित कर देना चाहिए।

घर में कांटेदार पेड़-पौधे न लगाएं इससे पारिवारिक संबंधों में भी कांटों की सी चुभन पैदा होने लगती है।
Share To:

पंडित "विशाल" दयानन्द शास्त्री

Post A Comment:

0 comments so far,add yours