ज्योतिष द्वारा जानिए की केसा हैं आपका मित्र...फ्रेंड या 
दोस्त....???

जन्म कुंडली बताएगी की आपका मित्र अच्छा है या धूर्त्त ???

पण्डित "विशाल" दयानन्द शास्त्री के अनुसार किसी भी जातक की जन्म कुंडली में मौजूद नवमांश कुंडली के अनुसार मनुष्य का आचरण या स्वभाव जाना जा सकता है ।

इस संसार में मोजुद प्राणियों में मनुष्य बड़ा विचित्र प्राणी है । इसके चेहरे पर कुछ और होता है और अंदर मन मे कुछ और होता है ।
पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार मनुष्य के स्वभाव को जानना बहुत मुश्किल काम है । कुछ मनुष्य देखने मे बहुत सुंदर होते है लेकिन मन से बहुत काले कपटी और घमंड या ईगो तथा गंदगी से भरे होते है । इसको जानने के लिए किसी भी जातक की नवमांश कुंडली का प्रयोग करना चाहिए ।
पण्डित दयानन्द शास्त्री के मुताबिक मनुष्य का स्वभाव मुख्यत 4 प्रकार का होता है।।।

यथा----

1--कुछ मनुष्य बाहर से बहुत सुंदर होते है लेकिन अंदर मन से बहुत काले कपटी तथा गंदगी से भरे होते है तथा ईगो कूट कूट कर भरी होती है।
2-- कुछ मनुष्य बाहर से बहुत सुंदर होते है तथा अंदर मन से भी बहुत सुंदर तथा भले होते है ।
3-- कुछ मनुष्य देखने मे बहुत कुरूप होते है लेकिन मन से बहुत साफ और दिव्य होते है ।
4-- कुछ मनुष्य देखने मे बहुत कुरूप होते है तथा अंदर मन से भी बहुत कुरूप तथा काले होते है ।
----जेसे यदि किसी जातक की कुंडली मे लग्न का स्वामी ग्रह शुभ हो और नवमांश मे नीच या अशुभ हो या 6,8,12 मे बैठा हो तथा शनि राहू केतू से पीड़ित हो तो जातक बाहर से सुंदर तथा अंदर से काला होता है ।
----- जेसे यदि किसी जातक की लग्न कुंडली मे लग्न का स्वामी ग्रह शुभ हो और नवमांश मे भी शुभ हो तथा शुभ ग्रहों से युति या दृष्टि मे हो तो ऐसा जातक बाहर से भी सुंदर और अंदर से भी सुंदर होता है ।
---- जेसे यदि किसी जातक की लग्न कुंडली मे लग्न का स्वामी ग्रह क्रूर या पापी हो तथा नवमांश मे शुभ दृष्टि हो या शुभ राशि मे या वर्गोत्तम हो तो ऐसा जातक बाहर से कुरूप या स्पष्टवादी तथा अंदर से भी सुंदर होता है ।
----- जेसे यदि किसी जातक की लग्न कुंडली मे लग्न का स्वामी ग्रह क्रूर या पापी हो और नवमांश मे भी पापी नीच या 6,8,12 मे हो या अशुभ राशि मे हो तो ऐसा जातक बाहर से भी कुरूप तथा अंदर से भी कुरूप और गंदगी से भरा होता है ।
सावधान रहें।। सुरक्षित रहें।।

मित्र....फ्रेंड या दोस्त बनाने से पहले उसकी जन्म कुंडली किसी योग्य और विद्वान् ज्योतिषाचार्य को अवश्य दिखा लेवें।।

आपका भावी जीवन सुखी, समृद्ध और सुरक्षित रह पाएं इसी कामना के साथ कल्याण हो।। शुभम भवतु।।।




पंडित "विशाल" दयानन्द शास्त्री--मोब.नंबर---09669290068....वाट्स अप--09039390067....
Share To:

पंडित "विशाल" दयानन्द शास्त्री

Post A Comment:

0 comments so far,add yours